खुला पत्र : मोदी जी आपके राज में बच्चियों से बलात्कार हो रहे है,महिलाओं को आपके मुख्यमंत्री अपने दंभ में खुले आम अपमानित और सस्पेंड कर रहे है- आशु भटनागर

2
367
views

आदरणीय प्रधानमंत्री  मोदी जी ,

मैं इस देश का एक अदना सा नागरिक हूँ, लेकिन आज आपसे एक खुले पत्र के माध्यम से कुछ कहना चाहता हूँ I हो सकता है कुछ बातें इसमें आपको बुरी लगे लेकिन ये मेरे जैसे लोगो की कसक है

२०१२ के के आसपास की बात है , भारतीय समाज में आर्थिक , सामाजिक और राजनैतिक उथल पुथल चरम पर थी , अनिश्चित वातावरण में अन्ना हजारे , किरण बेदी और बाबा राम देव जैसे लोग सरकार के विरुद्ध जनता की आवाज़ उठा रहे थे I पहले से ही बेरोजगारी, महंगाई और सरकारों के अहंकार से परेशान जनता के सामने जब निर्भया काण्ड ने दस्तक दी तो जन सैलाब सडको पर उतर आया , और ऐसा उतरा की तत्कालीन कांग्रेस सरकार के कोई बहाने कोई समाधान काम नहीं आये I जिसका असर २०१४ के चुनाव में साफ़ दिखा I और नरेंद्र मोदी  जी आपकी लहर पर सवार भाजपा नीत गठबंधन ३००+ सीटो के साथ सरकार में आई I

लेकिन ४ साल बाद आज समाज पुन: मोदी जी आपसे सवाल कर रहा है की आपको केंद्र की सरकार के साथ साथ २२ राज्यों में भी सरकारे देने के बाद आखिर समाज में महिलाओं और बच्चियों से अपराध क्यूँ नहीं रुक रहे है I आखिर क्या कारण है की आज ६ वर्ष के बाद भारतीय समाज फिर उसी दोराहे पर खड़ा है जहाँ फिर से निर्भया काण्ड दोहराया गया है I और इस बार कोई रात में अपने मंगेतर के साथ लौटती लड़की का नहीं स्कुल से लौटती एक सात साल की लड़की के साथ ना सिर्फ  उसी बर्बरता के साथ बलात्कार किया गया बल्कि उसको जान से मारने की भी कोशिश की गयी I वो तो उस लड़की की किस्मत अच्छी कहिये या बुरी की वो तब बच गयी और अब अस्पताल में तमाम दर्द के बीच जिंदगी से अपनी लड़ाई लड़ रही है I

यहाँ मोदी जी आपका जिक्र इसलिए ज़रूरी है क्योंकि आज आपके ४ साल के शासन और २२ राज्यों में आपकी सरकार होने बाद आपके मुख्यमंत्रियों और नेताओं में वही वही निरंकुशता देखने को मिल रही है जैसे ५ साल पहले कांग्रेस के नेताओं में देखने को मिलती थी I

इसका उदाहरण यदा कदा आपकी राज्यों सरकारों में मिलता रहता है और ताजा उदाहरण उत्तरखंड के मुख्यमंत्री द्वारा एक विधवा महिला टीचर के साथ जनता दरबार में उसके साथ की गयी दंभ पूर्वक हरकत और उसके बाद अपने मुख्यमंत्री के पद का दुरूपयोग करते हुए उसका सस्पेंशन करने की खबर है I

जबकि आपके ही मुख्यमंत्री की टीचर पत्नी बीते २० सालो से कभी उस महिला के बराबर दुर्गम क्षेत्र में नहीं भेजी गयी है I आपके ही मुख्यमंत्री की पत्नी के नाम बिना शाशन को बताये ज़मीने खरीदने के भी आरोप हैं लेकिन उसको छोड़ भी दें तो यहाँ ध्यान दीजिये

खबरों में जारी विडियो को देखने से साफ़ पता चलता है की एक विधवा महिला सरकारी तंत्र से परेशानी होकर मुख्यमंत्री के जनता दरबार में अपने छोटे बच्चो की खातिर सुगम स्कुल में अपना ट्रान्सफर मांग रही थी मगर वो विधवा नहीं जानती थी की वहां उसको न्याय नहीं फ़रियाद करने के एवेज में सार्वजानिक फटकार मिलेगी और साथ ही संस्पेंशन का आर्डर भी I अब विपदा की मारी वो महिला अपना आप ना खो दें तो क्या करें ?

ऐसे में आपके उपर ये सवाल है की आखिर  कांग्रेस मुक्त भारत का सपना तो वही का वही रह जा रहा है क्योंकि जिस कांग्रेस संस्कृति का विरोध में ५ साल पहले जनता आपको लायी थी आज वही जनता आपके राज और आपकी पार्टी के नेताओं में वही निरंकुशता महसूस कर रही है

हो सकता है आज समाज के इन सवालों में आपको विपक्ष की आवाज़ और राजनीती भी दिखे लेकिन हम क्या करें क्योंकि अगर हमारी समस्याओं में विपक्ष अपनी राजनीती और फायदा उठा ले तो ये भी तो आपकी ही कमी हैं ना…
ये भी हो सकता है की आप अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेहतर चुनावी  प्रबंधन से चुनाव जीत भी लें तो भी जनता के दिलो का क्या उनकी पीड़ा का क्या ?

अब ऐसे में …

  1. अगर आपके राज में समाज की लड़कियां सुरक्षित ना हो तो आपकी ५६ इंची सरकार का हम क्या करें ?
  2. अगर आपके राज में आपके मुख्यमंत्री इतने निरंकुश हो जाए की वो एक विधवा महिला की समस्या को सुनने की जगह उसे दंभ पूर्वक सजा दें दें तो आपकी मजबूत सरकारों का हम् क्या करें ?
  3. देश में विकास की कीमत अगर लोगो के मान सम्मान और जिंदगी को दांव पर लगा कर चुकानी है तो ऐसी विकास शील सरकार का हम क्या करें

नरेंद्र मोदी जी आप इस देश के प्रधान मंत्री है और हम सभी चाहते है की अगले १० सालो तक आप ही प्रधान मंत्री रहे लेकिन आप ही बताइये किस कीमत पर ?

आपका ही एक शुभचिन्तक
आशु भटनागर

2 COMMENTS

  1. माननीय आपकी खान्ग्रेसी सरकार से हमारी भाजपा सरकार दस गुना बेहतर काम कर रही है। रही बात अपराधों की तो यथासंभव प्रशासन को सख्त किया जा रहा है ,ये रक्तबीज खान्ग्रेस के ही बोये हुए है।

  2. राजेश श्रीवास्तव जी आभार हमें कांग्रेसी साबित करने के लिए .. अब मुद्दे की बात आपकी सरकार को जनता ने इसलिए नहीं चुना था की आप पुराने वाले के पाप दिखा कर अपनी पीठ दिखा दें I ४ साल में केंद्र और राज्यों में सरकार होने के बाबजूद अगर आप चीजे नहीं सम्भ्हाल पा रहे है तो दोष किसका ?
    खाली कांग्रेस को कोस कर तो जनता का मुह नहीं बंद कर सकते है ना
    आशु भटनागर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

"कालिदास क्लब  "पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से "कालिदास क्लब के संचालन में योगदान दें।